presidential election : द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में आईं मायावती विपक्ष से जताई नाराजगी


नई दिल्ली:-राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में एक और पार्टी द्वारा समर्थन का ऐलान होते ही विपक्ष के लिए राह और भी मुश्किल हो गई है। शनिवार को बसपा प्रमुख मायावती ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए का साथ देने का एलान करते करते हुए कहा कि वो द्रौपदी मुर्मू का समर्थन इसलिए कर रही हैं क्योंकि वो आदिवासी समुदाय से आती हैं। इसके साथ-साथ मायावती ने विपक्ष पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर विपक्ष ने बसपा से कोई सलाह नहीं की।
मायावती ने कहा कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार ने बसपा को राष्ट्रपति उम्मीदवार तय करने के लिए आयोजित बैठक में नहीं बुलाया।

समर्थन सिर्फ इस कारण


उन्होंने कहा कि बसपा एकमात्र राष्ट्रीय पार्टी है, जिसका नेतृत्व दलितों के साथ है। हम ऐसी पार्टी नहीं हैं जो बीजेपी या कांग्रेस को फॉलो करती है, या जो उद्योगपतियों से जुड़ी है। हम उत्पीड़ितों के पक्ष में निर्णय लेते हैं। ऐसे में अगर कोई पार्टी ऐसी जातियों या लोगों के वर्ग के पक्ष में निर्णय लेती है, तो हम परिणाम की परवाह किए बिना इन दलों का समर्थन करते हैं। मायावती ने कहा कि बंगाल की सीएम ने पहली बैठक के लिए कुछ चुनिंदा पार्टियों को ही बुलाया और शरद पवार ने भी बसपा को चर्चा के लिए नहीं बुलाया। विपक्ष ने केवल राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर आम सहमति बनाने की कोशिश का ढोंग किया। विपक्ष बसपा के खिलाफ अपनी जातिवादी मानसिकता के साथ जारी है और इसलिए हम राष्ट्रपति चुनाव पर निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं। हमारी पार्टी ने आदिवासी समुदाय को हमारे आंदोलन के एक प्रमुख हिस्से के रूप में पहचाना है और द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में समर्थन देने का फैसला किया है। इसका बीजेपी या विपक्ष से कोई लेना-देना नहीं है।

आम सहमति सिर्फ बहाना


मायावती ने कहा कि सत्ता में बैठे दल बसपा के आंदोलन को कमजोर करने की कोशिश करते हैं। कांग्रेस या बीजेपी नहीं चाहती कि देश में सही मायने में संविधान लागू हो। बीजेपी ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर आम सहमति का ढोंग किया है और इसलिए विपक्षी दलों और बसपा को दोनों पक्षों से दूर रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *